Categories: Uncategorized

शिवसेना-कंगना विवाद को पीएल पुनिया ने बताया दुर्भाग्यपूर्ण; कहा- सभी अपनी बात रखने के लिए स्वतंत्र

कांग्रेस के वरिष्ठ नेता पीएल पुनिया ने महाराष्ट्र की सहयोगी शिवसेना और बॉलीवुड अभिनेत्री कंगना रनौत के बीच चल रही जुबानी जंग को ‘दुर्भाग्यपूर्ण’ बताया है। उन्होंने कहा-”शिवसेना और कंगना के बीच जो चल रहा है वह दुर्भाग्यपूर्ण है। हर व्यक्ति वे कहने के लिए स्वतंत्र है जो वह कहना चाहता है।”

राज्यसभा सांसद ने ये भी कहा कि रनौत हिमाचल प्रदेश की मूल निवासी हैं लेकिन नेशनल सेलिब्रिटी हैं। उन्होंने कहा कि ‘ये गलत है कि शिवसेना से लड़ाई होने के बाद हिमाचल पुलिस उन्हें सुरक्षा दे रही है जबकि मुंबई पुलिस को ऐसा करना चाहिए।’ गौरतलब है कि महाराष्ट्र की महाविकास अघाड़ी सरकार में शिवसेना के साथ कांग्रेस और एनसीपी का गठबंधन है।

कंगना को मिली Y श्रेणी की सुरक्षा

केंद्र सरकार ने हिमाचल सरकार की सिफारिश पर अभिनेत्री को Y कैटेगिरी की सुरक्षा को हरी झंडी दे दी है। कंगना ने इस बात की खुद तस्दीक करते हुए गृहमंत्री अमित शाह को धन्यवाद दिया है। उन्होंने ट्विटर पर लिखा कि ‘ये प्रमाण है की अब किसी देशभक्त की आवाज़ को कोई फ़ासीवादी नहीं कुचल सकेगा।’

ये भी पढ़ेः कंगना का BMC पर आरोप, कहा- ‘मेरे ऑफ़िस में मारा छापा, मेरा सपना टूटता नजर आ रहा है’

ये भी पढ़ेः कंगना को सुरक्षा मिलने पर भड़कीं शिवसेना सांसद प्रियंका चतुर्वेदी; कहा- ‘BJP ने दिखा दिया..’

मुंबई पुलिस और महाराष्ट्र सरकार के खिलाफ बयानबाजी के बाद शिवसेना के कई नेताओं द्वारा अभिनेत्री को कथित तौर पर धमकी मिल रही थी, जिसके बाद उन्हें Y कैटेगरी की सुरक्षा दी गई है। बता दें, कंगना रनौत ने 9 सितंबर को मुंबई पहुंचने का ऐलान किया है।

क्या था मामला?

पिछले दिनों शिवसेना सांसद संजय राउत ने कंगना को कथित तौर पर ‘मुंबई नहीं आने’ की धमकी दी थी, जिसके बाद कंगना रनौत ने संजय राउत पर एक के बाद एक कई हमले किए थे। अभिनेत्री ने अपने ऊपर हमले को अभिव्यक्ति की आजादी से जोड़ दिया है। उन्होंने साफ कहा है कि इस तरह की बयानबाज़ी से देश की बेटियां उन्हें कभी ‘माफ’ नहीं करेगी।

कंगना ने कुछ दिनों पहले ही मुंबई पुलिस की सुरक्षा पर सवाल उठाए थे, उन्होंने ये भी कहा था कि वो मुंबई पुलिस से सुरक्षा लेने की जगह केंद्र या फिर हिमाचल सरकार से इसकी फरियाद करेगी। ‘क्वीन’ अभिनेत्री सुशांत मामले में मुंबई पुलिस के रवैये पर लगातार सवाल उठाती रही हैं जिसके बाद से ही वो शिवसेना के निशाने पर हैं।

ये भी पढ़ेः कंगना के समर्थन में करणी सेना; शिवसेना के खिलाफ प्रदर्शन में फूंका संजय राउत का पुतला



bharat.republicworld.com

Leave a Comment