Categories: देश

फैक्ट चेक: क्या नौकरियों में कटौती के साथ भारतीय रेलवे का पूरी तरह से किया जा रहा है निजीकरण?

भारतीय रेलवे का पूरी तरह से किया जा रहा है निजीकरण?

PIB Fact Check: वायरल खबर के मुताबिक, निजीकरण की प्रक्रिया में नौकरियों में कटौती (cut in jobs) के साथ रेलवे का निजीकरण किया जा रहा है. आइए जानते हैं आखिर क्या है इस खबर की सच्चाई…

नई दिल्ली. सोशल मीडिया (Social Media) पर एक खबर वायरल हो रही है जिसमें दावा किया जा रहा है कि भारतीय रेलवे (का पूरी तरह से निजीकरण (Indian Railways Privatization) किया जा रहा है. ये खबर सोशल मीडिया पर काफी तेजी से वायरल हो रही है. इस वायरल खबर के मुताबिक,  निजीकरण की प्रक्रिया में नौकरियों में कटौती (cut in jobs) के साथ रेलवे का निजीकरण किया जा रहा है. आइए जानते हैं आखिर क्या है इस खबर की सच्चाई…

जानें आखिर क्या है सच?
इस खबर की पड़ताल करने पर पता चला कि ये खबर फर्जी है. इससे जुड़ी ऐसी कोई भी खबर किसी भी वेबसाइट पर नहीं छापी गई है. भारत सरकार के आधिकारिक ट्विटर हैंडल पीआईबी फैक्ट चेक ने भारतीय रेलवे के निजीकरण के दावे को फेक बताते हुए कहा, ‘यह दावा फर्जी है! कुछ ऐसे क्षेत्र हैं जहां पब्लिक-प्राइवेट पार्टनरशिप पर काम किया जा रहा है, लेकिन नियंत्रण अभी भी रेलवे मंत्रालय के पास होगा. ऐसे में ये साफ है कि सोशल मीडिया पर वायरल हो रही ये खबर गलत है.

यह भी पढ़ें- LTA से भी बचा सकते हैं इनकम टैक्‍स! बिना यात्रा किए क्‍लेम करने की छूट दे सकती है केंद्र सरकार

बता दें, इससे पहले भी एक और खबर वायरल हुई थी जिसमें दावा किया गया था कि रेलवे ने फैसला लिया है कि साल 2020-21 की सैलरी रेलवे कर्मचारियों को नहीं देगा. हालांकि ये दावा भी गलत साबित हुआ था. ऐसे में ये साफ है कि सोशल मीडिया पर वायरल हो रही ये खबर गलत है.


hindi.news18.com

Leave a Comment