Categories: देश

प्रत्‍याशियों का आपराधिक इतिहास जनता के सामने लाने के लिए EC ने जारी किए नए निर्देश

चुनाव आयोग ने जारी किया नया दिशानिर्देश

Election Commission issues revised guidelines For criminal antecedents: भारतीय निर्वाचन आयोग ने प्रत्‍याशियों के आपराधिक इतिहास को सार्वजनिक करने को लेकर संशोधित दिशा-निर्देश जारी किया है. जिसमें उम्‍मीदवार और उनकी पार्टी को आपराधिक केसों का विवरण न्‍यूज पेपर और टीवी में प्रकाशित कराना होगा. ऐसा तीन बार करना होगा.

नई दिल्‍ली. चुनाव आयोग (Election Commission of India) ने शुक्रवार को आपराधिक छवि वाले प्रत्‍याशियों के मामलों को सार्वजनिक करने को लेकर संशोधित दिशा निर्देश जारी किया है. नए दिशा निर्देश में प्रत्‍याशियों के साथ ही उन्‍हें चुनाव लड़ाने वाली पार्टियों को भी नए नियम का पालने करने के लिए कहा गया है. संशोधित निर्देश में कहा गया है कि उम्‍मीदवार और उनकी पार्टी को आपराधिक केसों का विवरण न्‍यूज पेपर और टीवी में प्रकाशित कराना होगा.

चुनाव आयोग के संशोधित दिशा निर्देश के अनुसार, आपराधिक छवि वाले उम्‍मीदवारों को नामांकन वापसी के 4 दिन के अंदर पहली पब्लिसिटी करनी होगी. जबकि नामांकन वापसी के 5 से 8 दिनों के अंदर दूसरी पब्लिसिटी करनी होगी और नामांकन वापसी के 9 से चुनाव प्रचार के अंतिम दिन तक तीसरी पब्लिसिटी करानी होगी. आपराधिक छवि के उम्‍मीदवारों और राजनीतिक दलों को चुनाव आयोग के इस दिशानिर्देश का पालन करना होगा.


hindi.news18.com

Leave a Comment