Categories: देश

पहले ही दिन 100% सब्सक्राइब हुआ Route Mobile IPO, 15 एंकर इंवेस्‍टर्स से जुटाए 180 करोड़

रूट मोबाइल का आईपीओ खुलने के पहले ही दिन यानी 9 सितंबर को ही 100 फीसदी सब्‍सक्राइब हो गया.

रूट मोबाइल का आईपीओ (Route Mobile IPO) 9 सितंबर यानी आज सुबह खुला और दिन खत्‍म होते-होते पूरा का पूरा सब्‍सक्राइब (Fully Subscribed) हो गया. कंपनी ने आईपीओ के लिए 345-350 रुपये प्रति शेयर का प्राइस बैंड (Price Band) तय किया था. निवेशकों को एक बार में कम से कम 40 शेयर के लिए आवेदन करना था.

नई दिल्‍ली. रूट मोबाइल का आईपीओ (Route Mobile IPO) आज सुबह खुला और दिन खत्‍म होते-होते 100 फीसदी सब्‍सक्राइब (Subscribed) हो गया. आईपीओ खुलने के बाद दोपहर 12 बजे तक ही 34 फीसदी सब्सक्राइब हो चुका था. आईपीओ के तहत कंपनी ने 1.21 करोड़ इक्विटी शेयर (Equity Share) की पेशकश की थी. रूट मोबाइल के आईपीओ को खुदरा निवेशकों (Retail Investors) की अच्‍छी प्रतिक्रिया मिली. कंपनी ने आईपीओ के जरिये 600 करोड़ रुपये जुटाने का लक्ष्‍य रखा था. इसमें प्रमोटर्स के शेयर की वैल्‍यू 360 करोड़ रुपये है. वहीं, कंपनी ने 240 करोड़ रुपये के नए शेयर जारी किए थे.

रूट मोबाइल ने 345-350 रुपये प्रति शेयर रखा था प्राइस बैंड
आईपीओ के लिए कंपनी ने 345-350 रुपये प्रति शेयर का प्राइस बैंड (Price Band) तय किया था. वहीं, लॉट साइज 40 शेयरों का रखा गया था. आसान शब्‍दों में समझें तो एक निवेशक को कम से कम 40 शेयर के लिए आवेदन करना था. कंपनी ने बताया था कि आईपीओ 9 सितंबर को खुलेगा और 11 सितंबर को बंद हो जाएगा. इस इश्यू के बाद कंपनी में प्रमोटर्स की हिस्सेदारी 96 फीसदी से घटकर 66 फीसदी रह जाएगी. कंपनी इस इश्यू से होने वाली आय का इस्तेमाल कर्ज चुकाने, संपत्ति खरीदने और रणनीतिक अधिग्रहण के लिए करेगी.

ये भी पढ़ें- PNB का खास ऑफर! 31 दिसंबर तक मिल रहा है सस्ते में Home और Car Loan लेने का मौकाकंपनी के ग्रोथ रेट में साल-दर-साल हो रही है अच्‍छी बढ़ोतरी

रूट मोबाइल की शुरुआत 2004 में हुई थी. कंपनी मुख्य रूप से ओटीटी और मोबाइल नेटवर्क ऑपरेटर के लिए ओम्नीचैनल क्लाउड कम्युनिकेशन सर्विस का काम करती है. कंपनी के पास दुनिया के सबसे बड़ी सोशल मीडिया कंपनियों, बैंकिंग और फाइनेंशियल सर्विसेज, एविएशन, रिटेल, ई-कॉमर्स, लॉजिस्टिक, हेल्थ, हॉस्पिटैलिटी और टेलीकॉम सेक्टर का बड़ा कस्टमर बेस है. कंपनी का रेवेन्यू 30 जून को समाप्त तिमाही में 309.6 करोड़ रुपये रहा. वहीं, वित्त वर्ष 2019-20 के लिए यह आंकड़ा 956.2 करोड़ रुपये था. वित्त वर्ष 2017-18 से 2019-20 के दौरान कंपनी का रेवेन्यू 37.6 फीसदी की ग्रोथ के साथ 956.3 करोड़ रुपये तक पहुंच गया.

ये भी पढ़ें :- Nestle India ने युवाओं की तरफ बढ़ाया हाथ, अपना बिजनेस शुरू करने में ऐसे करेगी मदद

ज्‍यादा जोखिम क्षमता वाले निवेशकों के लिए अच्‍छा है आईपीओ
कंपनी का शुद्ध लाभ 21.6 फीसदी बढ़कर 69.1 रुपये तक पहुंच गया है. पिछले 2 साल के दौरान रूट मोबाइल की वृद्धि दर काफी अच्छी रही है. प्रॉफिट और रेवेन्यू दोनों में शानदार ग्रोथ देखने को मिली. लेकिन कुछ चीजें कंपनी के लॉन्‍ग टर्म ग्रोथ पर असर डाल सकती हैं. इसका कोर बिजनेस कम्यूनिकेशन बेस्ड है. इसलिए इस सेक्टर में कंपनी को दूसरी बड़ी कंपनियों से जबरदस्‍त प्रतिस्‍पर्धा का सामना करना होगा. अभी कंपनी की देनदारियां भी काफी ज्‍यादा हैं. इससे वर्किंग कैपिटल स्ट्रेस का सामना करना पड़ सकता है. यह आईपीओ ज्‍यादा जोखिम क्षमता वाले निवेशकों के लिए ठीक है. जिनकी जोखिम क्षमता अधिक है.


hindi.news18.com

Leave a Comment