Categories: देश

केरल में एंबुलेंस चालक ने किया कोविड-19 मरीज से बलात्कार, गिरफ्तार किया गया

एंबुलेंस चालक ने 19 साल की एक कोविड-19 मरीज से कथित रूप से उस समय बलात्कार किया, जब युवती को इलाज के लिए ले जाया जा रहा था (सांकेतिक फोटो)

लड़की की मां ने अस्पताल प्रशासन (Hospital administration) और पुलिस (police) से शिकायत की, जिसके आधार पर एंबुलेंस चालक नौफाल (29) को रविवार को हिरासत (arrest) में ले लिया गया. कानिवू 108 एंबुलेंस सर्विसेज ने एक विज्ञप्ति में कहा कि आरोपी चालक को सेवा से बर्खास्त (dismiss) कर दिया गया है.

पथनमथिट्टा. केरल (Kerala) में पथनममिट्टा के समीप एंबुलेंस चालक (Ambulance Driver) ने 19 साल की एक कोविड-19 मरीज (Covid-19 Patient) से कथित रूप से उस समय बलात्कार (rape) किया, जब युवती को इलाज (treatment) के लिए ले जाया जा रहा था. पुलिस ने रविवार को यह जानकारी दी. इस घटना का संज्ञान लेते हुए राज्य महिला आयोग (State women’s commission) ने स्वयं ही मामला दर्ज किया है. विपक्षी कांग्रेस (Congress) और भाजपा (BJP) ने इस घटना की निंदा की है तथा स्वास्थ्य मंत्री के के सैलजा (Health Minister KK Shailaja) ने कहा कि अपराधी के खिलाफ कड़ी कार्रवाई करने का निर्देश दिया गया है.

सैलजा ने कहा, ‘‘यह दुर्भाग्यपूर्ण घटना है. हमने अपराधी के खिलाफ कड़ी कार्रवाई (Strict action) करने का निर्देश दिया है.’’ लड़की की मां ने अस्पताल प्रशासन (Hospital administration) और पुलिस (police) से शिकायत की, जिसके आधार पर एंबुलेंस चालक नौफाल (29) को रविवार को हिरासत (arrest) में ले लिया गया. कानिवू 108 एंबुलेंस सर्विसेज ने एक विज्ञप्ति में कहा कि आरोपी चालक को सेवा से बर्खास्त (dismiss) कर दिया गया है. पुलिस के अनुसार यह घटना शनिवार को अरणमुला में हुई.

पीड़िता अभी अपनी आपबीती बताने की स्थिति में नहीं
जांच अधिकारी ने कहा, ‘‘पीड़िता ने अस्पताल प्रशासन को बताया और फिर अस्पताल प्रशासन ने हमें इसकी सूचना दी. उसके बाद हमने उसे हिरासत में ले लिया. हम लड़की का बाद में बयान लेंगे क्योंकि वह अभी अपनी आपबीती बताने की स्थिति में नहीं है.’’ इस लड़की को शनिवार को अडूर के एक अस्पताल में भर्ती कराया गया था. वह और उसकी मां कोरोना वायरस से संक्रमित पायी गयी थीं.लड़की को बाद में जब ‘फर्स्ट लाइन’ उपचार केंद्र स्थानांतरित किया जा रहा था, तब एंबुलेंस चालक ने उसके साथ कथित तौर पर बलात्कार किया. आयोग की अध्यक्ष एम सी जोसफाइन ने कहा कि महिला को सभी तरह की सहायता की पेशकश की गई है. उन्होंने एक बयान में कहा, ‘‘यह मुद्दा दर्शाता है कि महिला मरीजों को पृथक सुरक्षा व्यवस्था की जरूरत है. अपराधी के खिलाफ कड़ी कार्रवाई के अलावा उसका ड्राइविंग लाइसेंस भी रद्द कर दिया जाना चाहिये.’’ उन्होंने कहा, ‘‘एंबुलेंसों के लिए चालक नियुक्त करने से पहले कड़ी पृष्ठभूमि जांच होनी चाहिए.’’

पुलिस ने घटना की सूचना मिलने के तुरंत बाद उसे पकड़ लिया
पथनमथिट्टा के पुलिस अधीक्षक पी के जी साइमन ने कहा कि पुलिस ने घटना की सूचना मिलने के शीघ्र बाद उसे पकड़ लिया. उन्होंने कहा, ‘‘वह कायमकुलम का रहने वाला है और वह हत्या के मामले में पहले से आरोपी है. हम अन्य जानकारियां जुटा रहे हैं. यह घटना दुर्भाग्यपूर्ण है.’’ उन्होंने बताया कि पथनमथिट्टा के समीप अरणमुला में एक खाली भूखंड में चालक ने मरीज के साथ कथित रूप से बलात्कार किया.

विपक्ष के कांग्रेस के नेता रमेश चेन्नितला ने कहा, ‘‘महिला को अपराधी के साथ एंबुलेंस में अकेले भेज दिया गया. …. अब पुलिस कह रही है कि अपराधी की आपराधिक पृष्ठभूमि है.’’ उन्होंने कहा, ‘‘जब उसे नियुक्त किया गया तब इस बात पर विचार क्यों नहीं किया गया. हम इस मामले की उच्चस्तरीय जांच की मांग करते हैं.’’

यह भी पढ़ें: उपचुनाव- BJP का सांसद-MLA समेत मंत्रियों के साथ मंथन, शिवराज ने कही ये बात

प्रदेश भाजपा अध्यक्ष के सुरेंद्रण ने भी ऐसी मांग करते हुए कहा, ‘‘यह दर्शाता है कि केरल सरकार विफल है और हम स्वास्थ्य मंत्री के इस्तीफे की मांग करते हैं.’’ उन्होंने संवाददाताओं से कहा, ‘‘मरीज को बिना नियमों का पालन किये चालक के साथ भेज दिया गया.’’


hindi.news18.com

Leave a Comment