Categories: देश

कंगना रनौत के समर्थन में उतरे अमित जोगी, बोले- खूब लड़ी मर्दानी, मनाली वाली रानी! Raipur News in Hindi

रायपुर. बृहन्मुंबई महानगर पालिका (BMC)द्वारा बॉलीवुड एक्ट्रेस कंगना रनौत (Kangana Ranaut) के पाली हिल रोड पर स्थित मणिकर्णिका फिल्म्स ऑफिस के एक हिस्से को अवैध निर्माण बताते हुए बुधवार को गिरा देने के बाद देशभर में हंगामा मचा हुआ है. इसके बाद शिवसेना और महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे (Uddhav Thackeray) देश के लोगों के निशाने पर आ गए हैं. कंगना को न सिर्फ अपने गृह राज्‍य हिमाचल प्रदेश की भाजपा सरकार से पूरा समर्थन मिल रहा है बल्कि देशभर से लोग उनकी हिम्‍मत को बढ़ा रहे हैं. इस बीच जनता कांग्रेस के अध्‍यक्ष अमित अजीत जोगी ने कंगना रनौत की तारीफ में जोरदार कसीदे गढ़ते हुए उन्‍हें वीरांगना करार दिया है.

अमित जोगी ने कही ये बात
छत्‍तीसगढ़ के दिवंगत सीएम अजीत जोगी के बेटे और जनता कांग्रेस के अध्‍यक्ष ने कंगना रनौत की तारीफ करते हुए लिखा, ‘खूब लड़ी मर्दानी, मनाली वाली रानी! एक अकेली वीरांगना महाराष्ट्र के पूरे सिस्टम पर भारी पड़ रही है. मणिकर्णिका के मलबा पर नए महाराष्ट्र का निर्माण होगा. इस शुभकामना के साथ जनता कांग्रेस बहन कंगना के साहस को सलाम करती है!

कंगना टीम ने दिया ये जबावअमित अजीत जोगी द्वारा रनौत को वीरांगना कहने के बाद कंगना टीम ने जवाब में लिखा, ‘ हा हा, नाइस मेम’. हालांकि जोगी ने कंगना टीम का शुक्रिया अदा करते हुए कहा कि छत्‍तीसगढ़ के लोग आपके साथ हैं.

अमित जोगी ने मांगी माफीहालांकि कंगना रनौत को वीरांगना कहने के बाद जोगी को लोगों ने ट्रोल करना शुरू कर दिया. इसके बाद उन्‍होंने एक अन्‍य ट्वीट करते हुए लिखा, ‘ मनुवादी सोच से ग्रसित कंगना के लिए वीरांगना शब्द के उपयोग के लिए मैं आप सबसे हाथ जोड़कर माफ़ी मांगता हूं. साथ ही जातिगत शोषण की हक़ीकत को देखने मैं उनको उनके मुंबई और मनाली के महलों निकलकर,छत्तीसगढ़ आने का निमंत्रण भी देता हूं.

साथ दूसरे ट्वीट में लिखा, ‘ कह डाला जबकि हक़ीकत यह है कि वे वास्तव में तब वीरांगना कहलाने के लायक होंगी जब वे जाति आधारित उत्पीड़न की वास्तविकता को स्वीकार करते हुए दलितों, आदिवासियों, पिछड़ा वर्ग और गरीबों के ख़िलाफ लगातार चले आ रहे मनुवादी शोषण के ख़िलाफ अपनी आवाज बुलंद करेंगी.’

इसके बाद कंगना टीम के एक ट्वीट के जवाब में जोगी ने लिखा, ‘ मैं कंगना टीम के इस विचार से बिल्कुल सहमत नहीं हो सकता कि आरक्षण की अब देश को कोई आवश्यकता नहीं है. उनके इस बेहद आपत्तिजनक और संकीर्ण मानसिकता वाले ट्वीट की जानकारी मुझे अपने उस ट्वीट के बाद मिली जिसमें मैंने उन्हें एक महिला होने के नाते पूरे सिस्टम से लड़ने के लिए वीरांगना कहा था.


hindi.news18.com

Leave a Comment