Categories: Uncategorized

कंगना के ऑफिस पर BMC की कार्रवाई; NCP नेता ने एक्ट्रेस पर तीखा हमला करते हुए BJP से पूछे ये सवाल

बृहन्मुंबई नगर निगम (BMC) द्वारा बांद्रा में अभिनेत्री कंगना रनौत के ऑफिस में तोड़फोड़ की। जिसपर एनसीपी नेता माजिद मेमन ने प्रतिक्रिया दी है। हालांकि, नेता ने तोड़फोड़ पर ध्यान देने की बजाय अभिनेत्री के शब्दों पर गौर किया है।

उन्होंने ट्वीट करते हुए लिखा-”मुंबई पुलिस को ‘बाबर की सेना’ बुलाने का मतलब उनका अपमान करना है। क्या वे चाहती हैं कि लोग शहर की पुलिस में अपना भरोसा खो दें और कानून व्यवस्था के मोर्चे पर अराजक स्थिति पैदा करें?”

आगे कंगना की फिल्म ‘मणिकर्णिका’ पर कटाक्ष करते हुए जिसमें उन्होंने रानी लक्षमीबाई की भूमिका निभाई थी, एनसीपी नेता ने लिखा-”मैं झांसी की रानी हूं, मैं कभी गलत नहीं होती। मुंबई पुलिस ‘बाबर की सेना’ है, मैं कभी गलत नहीं होती। मुंबई अब पीओके है, मैं कभी गलत नहीं होती। कुछ मूल रूप से गलत लगता है।”

आगे उन्होंने भाजपा और राज्य में विपक्ष के नेता देवेंद्र फडणवीस पर भी निशाना साधा और पूछा कि क्या वह कंगना के बयानों का समर्थन करते हैं। उन्होंने लिखा-”क्या श्री देवेंद्र फडणवीस कंगना के इन बयानों का समर्थन कर रहे हैं या निंदा। 1. मुंबई पुलिस बाबर की सेना है, 2. मुंबई पीओके है और 3. मैं झांसी की रानी हूं?”

बॉम्बे हाईकोर्ट ने BMC को लगाई फटकार

BMC द्वारा कंगना के ऑफिस में तोड़फोड़ शुरू करने के बाद, उनके वकील ने इसके खिलाफ बॉम्बे हाई कोर्ट में याचिका दायर की थी जिसकी सुनवाई पूरी हो चुकी है। बॉम्बे हाई कोर्ट ने BMC की कार्रवाई पर तत्काल रोक लगाने का आदेश दिया है। बॉम्बे हाई कोर्ट ने कहा है कि BMC की कार्रवाई अवैध है।

बता दें कि BMC ने कंगना को उनके ऑफिस में ‘अवैध निर्माण’ करने को लेकर नोटिस जारी किया था और उनसे काम रोकने के लिए कहा था। इसपर, अभिनेत्री के वकील रिजवान सिद्दीकी ने कहा है कि ‘इस बिल्डिंग में अभी तक कोई काम शुरू नहीं हुआ था जैसा कि गलत समझा जा है, इसलिए उनके द्वारा काम रोकने का नोटिस बिल्कुल खराब है। ऐसा लगता है कि उन्हें डराने के लिए अपने पद का दुरुपयोग किया जा रहा है।’

ये भी पढ़ेंः बॉम्बे हाईकोर्ट ने BMC को लगाई फटकार; कहा- रोक के बावजूद कैसे की तोड़फोड़, कार्रवाई अवैध’



bharat.republicworld.com

Leave a Comment