Categories: देश

अंबाला एयरबेस पर फ्रांसीसी रक्षामंत्री की मौजूदगी में वायुसेना को मिला राफेल

नई दिल्ली: भारत के इतिहास में आज का दिन बहुत महत्वपूर्ण है. आज दुनिया के सबसे ताकतवर और शानदार युद्धक लड़ाकू विमान राफेल को भारतीय वायुसेना को समर्पित किया गया. इस गौरवशाली अवसर पर  रक्षामंत्री राजनाथ सिंह के साथ फ्रांस की रक्षामंत्री फ्लोरेंस पार्ली भी मौजूद रहीं.

औपचारिक रूप से राफेल लड़ाकू विमान आज से सेना का हिस्सा बन गया. फाइटर जेट रफाल को गुरुवार को औपचारिक रूप से भारतीय वायुसेना में शामिल किए जाने से पहले सर्वधर्म प्रार्थना सभा के बाद एयर शो का आयोजन किया गया है.

दुनिया के सामने बढ़ी भारत की ताकत

आपको बता दें कि लड़ाकू विमान राफेल 17वें स्क्वाड्रन, “गोल्डन ऐरो” का हिस्सा बन रहा है. रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह और फ्रांस की रक्षा मंत्री फ्लोरेंस पार्ली अंबाला एयरबेस में आयोजित समारोह में मौजूद हैं. फ्रांस की रक्षा मंत्री रफाल के इंडक्शन में मुख्य अतिथि हैं. इस ऐतिहासिक क्षण पर CDS जनरल विपिन रावत और वायु सेना प्रमुख आरकेएस भदौरिया मौजूद हैं.

आधुनिक तकनीक और हथियारों से परिपूर्ण है राफेल

आपको बता दें कि राफेल  फाइटर जेट 55,000 फीट से हमला करने में सक्षम है जो अपने साथ उड़ान में 16 टन बम और मिसाइल ले जा सकता है. रफाल मल्टी डायरेक्शनल राडार से लैस हैं और इसकी नजर से कोई बच नहीं सकता. रफाल एक साथ 40 लक्ष्यों की निगरानी करने की काबिलियत रखता है.

क्लिक करें-  दिल्ली पहुंचीं फ्रांस की रक्षा मंत्री, राफेल आज वायुसेना में होगा शामिल

रफाल की रफ्तार 2200 किमी प्रति घंटे है. रफाल में 3 तरह की घातक मिसाइलें लगी हुई हैं.

zeenews.india.com

Leave a Comment